DIRECTOR'S MESSAGE

आज के जटिल एवं प्रतिस्पर्धा युग में युवा वर्ग को शिक्षित करना सबसे चुनौती भरा कार्य है। सूरतगढ एज्युकेशनल एण्ड सोशियल वैलफेयर ट्रस्ट इसी चुनौती को लेकर गुणात्मक शिक्षा के माध्यम से शैक्षणिक संस्थानों का संचालन कर रहा है। हमें हर्ष है कि ट्रस्ट द्वारा संचालित सूरतगढ पी. जी. महाविद्यालय आपके स्नेह व सहयोग से उŸारोŸार प्रगति की ओर अग्रसर हो रहा हैै, और हमें विश्वास है कि यह महाविद्यालय पूर्ण रूप से प्रतिस्पद्र्धापूर्ण नवीन शैक्षणिक व्यवस्था का मुकाबला करने के लिये तैयार है, क्योंकि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जो व्यक्ति को स्थानीय संस्कृति और समाज के उत्थान को बढावा देते हुए सम्पूर्ण समुदाय के साथ मिलकर कार्य करने की प्रेरणा देता है। इसके साथ-साथ विद्यार्थी वर्ग के सर्वांगीण विकास के सुअवसर सुनिश्चित करता है, परिणामस्वरूप विद्यार्थी उसके जीवन में व्यवसाय या सेवा के लिये लक्ष्य के साथ समाज व राष्ट्र में स्वयं को स्थापित करने में सफलता प्राप्त कर सकता है। 

महाविद्यालय का विशाल एवं सुंदर भवन है तथा छात्रहितों के दृष्टिगत सुसज्जित प्रयोगशालाएं एवं विशाल पुस्तकालय है। आधुनिक तकनीकियों से युक्त इस काॅलेज में विद्यार्थियों के अनुभवनात्मक एवं रचनात्मक विचारों के विकास के अवसर शैक्षणिक एवं सहशैक्षणिक गतिविधियों जैसे सेमीनार, वाद-विवाद प्रतियोगिताएं, संगोष्ठियां राष्ट्रीय सेवा योजना, रोवर रेंजर, रेड रिबन क्लब, उपभोक्ता क्लब आदि के माध्यम से प्रदान करने का प्रयास किया जाता है। मेधावी एवं निर्धन विद्यार्थियों को आधारभूत सभी सुविधाएं प्रदान करने का पूर्ण प्रयास किया जाता है। विभिन्न स्त्रोतों से छात्रवृŸिा की व्यवस्था भी महाविद्यालय स्तर पर की जाती है। 

सभी प्रवेशित विद्यार्थियों को मै विश्वास दिलाता हूं कि उनके लक्ष्यों एवं उद्देश्यों को प्राप्त करने में प्रत्येक क्षेत्र में काॅलेज प्रशासन एवं प्रबन्ध समिति द्वारा यथासंभव सहयोग किया जाएगा। 
शुभकामनाओं के साथ
 


Content
Call Back 1